कोहली और ट्रॉफी का हैं ‘छत्तीस का आंकड़ा’

ख़वरे अभी तक। विराट कोहली को भारतीय क्रिकेट टीम की कमान 2014 में मिली थी. जब धोनी ने टेस्ट टीम से कप्तानी छोड़ा और जनवरी 2017 में धोनी ने सीमित ओवरों के फॉर्मेट से भी कप्तानी छोड़ दी, जिसके बाद कोहली को वनडे और टी-20 की भी कमान सौंप दी गई. इसके बाद कोहली अपनी कप्तानी में आईसीसी के 2 बड़े टूर्नामेंट में भारत की अगुवाई की, लेकिन किसी में भी वह जीत नहीं दिला पाए. आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी-2017 में टीम इंडिया फाइनल में हारी तो इंग्लैंड एंड वेल्स में चल रहे वर्ल्ड कप-2019 में कोहली सेना से ट्रॉफी की उम्मीद थी, लेकिन सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मात खाकर विराट कोहली ने ये मौका भी गंवा दिया.

ऐसे देखे तो कोहली ने 2 साल में आईसीसी के 2 टूर्नामेंट गंवाए. पहला हैं-आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी-2017-इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया को केवल फाइनल में पाकिस्तान ने मात दी थी. टीम इंडिया शुरुआती मैचों में दमदार खेल दिखाया था, लेकिन फाइनल में आकर टीम लड़खड़ा गई थी. इस मुकाबले में पाकिस्तान ने 180 रनों से जीत दर्ज की थी. इस मैच में कोहली 5 रन बनाकर आउट हुए थे. और दुसरा मुकाबला-आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 टीम इंडिया का सफर लक्ष्य से एक कदम पहले थम गया. सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड ने 18 रनों से शिकस्त दी.

इस हार के साथ टीम इंडिया के हाथ तीसरी बार वर्ल्ड कप देखने का सपना टूट गया. विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया ने यहां शानदार शुरुआत की थी. इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने 9 मैच खेले, जिसमें 7 में जीत और 2 हार मिली. एक हार उसे सेमीफाइनल मिली, जिसकी वजह से उसे वर्ल्ड कप से बाहर होना पड़ा. टीम इंडिया के लिए विराट कोहली ने 77 वनडे मैचों में कप्तानी की है, जिसमें उसे 56 में जीत और 19 में हार मिली है. इसमें एक मैच ड्रॉ और एक का नतीजा नहीं निकला.

यह तो कहानी टीम इंडिया के दौरान कप्तानी की है पर उसकी साथ ही IPL में भी RCB विराट कोहली की अगुवाई में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु एक बार भी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की ट्रॉफी नहीं जीत पाए है. आईपीएल के 12 संस्करण में आरसीबी की टीम 3 बार फाइनल में पहुंची है. आखिरी बार विराट कोहली की कप्तानी में आरसीबी की टीम 2016 में फाइनल में पहुंची थी. इस मुकाबले में उसे सनराइजर्स हैदराबाद ने हराया था.
RCB के लिए विराट कोहली ने IPL में 110 मैचों की कप्तानी की है. इसमें उन्हें 49 में जीत और 55 में हार मिली है. 2 मुकाबले ड्रॉ और 4 मैचों का परिणाम नहीं निकला.

Add your comment

Your email address will not be published.