अब अरुण जेटली की जगह राज्यसभा में सदन के नेता होंगे थावर चंद गहलोत

खबरे अभी तक। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत को राज्यसभा में सदन का नेता नियुक्त किया गया। आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। गहलोत भाजपा के वरिष्ठ नेता व पीएम नरेंद्र मोदी की पहली सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली की जगह लेंगे।

जैसा कि आप सभी जानते है कि जेटली इस बार स्वास्थ्य कारणों से मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हुए हैं। आपको बता दें कि सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री गहलोत अनुभवी सांसद होने के साथ-साथ भाजपा का दलित चेहरा भी हैं। राज्यसभा में बतौर नेता उनकी नियुक्ति का फैसला केंद्र सत्ता भाजपा ने लिया है। बता दें कि 71 वर्षीय गहलोत लोकसभा के साथ-साथ राज्यसभा के भी सदस्य रह चुके हैं।

वहीं मोदी सरकार के पहले कार्यकाल यानि 2014 में भी थावर चंद गहलोत सामाजिक न्याय और सशक्तीकरण मामलों के मंत्री के पद पर नियुक्त किए गए थे। मंत्री के तौर पर थावर चंद गहलोत ने समाजिक तौर पर पिछड़े, समाज के वंचित तबके और दिव्यांग लोगों के लिए कई लाभदायक स्कीम को ड्राफ्ट कर चुके हैं।

अब आपको बताते है महत्वपुर्ण बात तो अरुण जेटली स्वास्थ्य की वजह से पिछले कुछ महीनों से राजनीतिक क्षेत्र में सक्रिय नहीं है। जैसा कि आप सभी जानते है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में वित्त मंत्रालय संभाल रहे अरुण जेटली ने शपथग्रहण से पहले ही खत लिखकर ऐलान किया था कि स्वास्थ्य कारणों से उनका पद पर बने रहना संभव नहीं है। उन्होंने पीएम मोदी से अपील की थी कि उन्हें मंत्रिमंडल का हिस्सा दोबारा न बनाया जाए।

जिसके चलते अब कहा जा रहा है कि गहलोत अरूण जेटली की जगह थावर चंद गहलोत को राज्यसभा सदन के नेता बनाए जाएंगे।

Add your comment

Your email address will not be published.