भारत में साढ़े तीन लाख बच्चों को हुआ अस्थमा, ये है कारण

ख़बरें अभी तक । देश में फेफड़ों और दिल की बीमारियां बढ़ती जा रही है. इसके पीछे का कारण है प्रदुषण. भारत में प्रदूषण को लेकर एक ऐसी ही एक स्टडी सामने आई है,जोकि पूरी तरह से चौकाने वाली है. जी हां एक स्टडी के अनुसार यातायात प्रदूषण के कारण भारत में साढ़े तीन लाख बच्चों को अस्थमा की बीमारी हुई है. चीन के बाद इस बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाला दूसरा देश भारत बन गया है.

देश में बढ़ते प्रदूषण के कारण यह बीमारी विकराल रूप धारण करती जा रही है. शोधकर्ताओ ने बताया कि भारत में अस्थमा की बीमारी के सबसे ज्यादा मामले इसलिए थे क्योंकि यहां बच्चों की आबादी अधिक है. यदि समय पर प्रदूषण पर काबू नहीं पाया गया तो ये आंकड़ा और अधिक बढ़ सकता है.

वैश्विक स्तर पर देखें, तो इस स्टडी के मुताबिक, हर साल प्रति एक लाख बच्चों में अस्थमा के 170 नए मामले सामने आते हैं और इनमें से बचपन में होने वाले अस्थमा के 13 फीसदी मामले यातायात प्रदूषण से जुड़े होते हैं।’

Add your comment

Your email address will not be published.