PUBG खेलना युवक को पड़ा महंगा पानी की जगह पी गया एसिड

खबरें अभी तक: दुनियाभर में खेले जाने वाली लोकप्रिय ऑनलाइन मल्टीप्लेयर गेम PUBG (प्लेयर अननोन बैटल ग्राउंड्स) गेम की लत युवाओं में इस हद तक बढ़ गई हैं कि यह चर्चा का विषय बना हुआ है।भारत में इस गेम की वजह से कई युवकों की जान तक चली गई है।वहीं आपको बता दें कि जम्मू और कश्मीर सरकार ने इस गेम पर रोक लगा दी गई है। हाल में ही एक और मामला सामने आया है जिसमें PUBG की लत की वजह से एक युवक मरते-मरते बचा है। यह मामला मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले का है। जहां 25 साल के एक युवक अपने यार्ड में इस गेम को खेलते-खेलते पानी की जगह एसिड पी लिया। जिसके बाद व्यक्ति को अस्पताल ले जाया गया। गले की सर्जरी के बाद युवक की जान बच सकी।

युवक का इलाज कर रहे डॉक्टर मनन गोगिया के मुताबिक, युवक को PUBG की लत इस कदर थी कि वह इलाज के दौरान अस्पताल में एडमिट होने के बावजूद गेम खेलता रहा। जिससे युवक की हालात और खराब होती गई। डॉक्टर की सलाह पर उसे नागपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया। नागपुर में भी युवक की हालत नहीं सुधरने पर इसे हमारे पास लाया गया। कुछ ही दिनों में युवक का वजन 5 से 6 किलो तक घट गया।

वहीं आपको बता दें कि इस तरह की घटना के बाद से गेम डेवलपर्स की तरफ से एक स्टेटमेंट जारी करके बताया गया कि वो इस तरह की घटना का फीडबैक बच्चों के माता-पिता के अलावा एक्सपर्ट्स से भी ले रहे हैं। इसके बाद गेम डेवलपर्स ने एक डिजिटल लॉक फीचर भी रोल आउट किया है। जो कि इस गेम के एडिक्शन को रोक सके। इस नए फीचर की मदद से 13 साल से कम उम्र के बच्चों के माता-पिता ही इस गेम को अनलॉक कर सकेंगे।

Add your comment

Your email address will not be published.