गन्ने के दाम बढ़ाने की मांग लगातार जारी, भारतीय किसान यूनियन ने किया बड़ा ऐलान, बोले…

ख़बरें अभी तक: किसान संगठनों ने मिलकर कैथल शुगर मिल में धरना प्रदर्शन (Protest) करते हुए नारेबाजी की. लेकिन किसानों के इस नाराजगी की असल वजह क्या है? आखिर क्यों किसान बार-बार सड़कों पर उतरने को मजबूर हैं?

हरियाणा (Haryana) में किसान पिछले लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन (Protest) कर रहे हैं. लेकिन किसानों की समस्या लगातार ज्यों की त्यों बनी हुई है. अब कैथल में सभी किसान संगठनों ने मिलकर शुगर मिल में धरना प्रदर्शन (Protest) करते हुए नारेबाजी की. गन्ने का समर्थन मूल्य 450 रुपये प्रति क्विंटल करने की किसानों की मांग है. वहीं सरकार की तरफ से बातचीत का समय देकर ना मिलने पर किसानों में रोष हैं.

वहीं कैथल में बुधवार को सभी किसान संगठनों ने एकत्रित होकर फैसला किया है कि 20 जनवरी को सुबह 8 बजे से पूरे हरियाणा (Haryana) की शुगर मिल को ताला लगाकर अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया जाएगा. इसके लिए किसानों को सूचना जारी की कि गन्ने की छिलाई बंद कर दें और जिनका गन्ना तैयार है वो तुरंत शुगर मिल में ले आएं. क्योंकि जब तक सरकार गन्ने का रेट 450 रुपये प्रति क्विंटल नहीं करती तब तक शुगर मिलों में तालाबंदी रहेगी.

अब देखना होगा कि सरकार किसानों की मांग कब तक पूरा करती है ताकि किसानों एक बार फिर अपनी मांगों को मनवाने के लिए सड़कों पर ना उतरना पड़े. अगर सरकार किसानों की मांगें नहीं मानती तो क्या किसान उग्र आंदोलन का सहारा लेंगे…

Add your comment

Your email address will not be published.