सिविल हॉस्पिटल की बड़ी लापरवाही, कोरोना पॉजिटिव को नेगेटिव बताकर परिजनों को सौंपा शव !

ख़बरें अभी तक || कोरोना अपने चरम पर है और  लगातार बढ़ते आंकड़ों से लोग दशहत में हैं। लेकिन इस सब के बीच अब अस्पतालों की लापरवाही ही लोगों पर भारी पड़ने लगी है। यमुनानगर के सिविल अस्पताल में भी कुछ ऐसा ही हुआ। यहां अस्पताल प्रबंधन की एक बड़ी लापरवाही सामने आने के बाद लोग हैरान रह गए और प्रबंधन को कोसने लगे।

दरअसल पूरा मामला यमुनानगर के जवाहर नगर का है। यहां एक शख्स की मौत हो गई। जिसके बाद परिजन शव को लेकर घर पहुंचे। तभी अस्पताल से सूचना मिली कि जिस शव को वो संस्कार करने के लिए घर लाए हैं, वो कोरोना पॉजिटिव है। जानकारी के मुताबिक जवाहर नगर में बीते 28 जुलाई के दिन एक युवक को उसके परिजन इलाज के लिए सिविल हॉस्पिटल ले गए थे। लेकिन यहां पर युवक की मौत हो गई।

हालांकि डॉक्टरों ने उसका कोरोना टेस्ट लिया और निगेटिव रिपोर्ट के साथ परिजनों को शव सौंप दिया। जैसे ही परिजन शव लेकर घर पहुंचे तो सिविल हॉस्पिटल से फोन आया और उनसे कहां गया कि वह मृतक का अंतिम संस्कार न करें, क्योकिं मृतक कोरोना पॉजिटिव है। इसके बाद सरकारी एम्बुलेंस मृतक के शव को लेने के लिए पहुंची तो परिजनों ने शव देने से इन्कार करते हुए घर के गेट पर ताला जड़ दिया। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को दोबारा अस्पताल भिजवाया।

वहीं इस मामले में मृतक के भाई का कहना है कि वह अपने भाई को सिविल अस्पताल लेकर गए थे। जैसे ही उन्होंने पर्ची कटवाई उसके भाई की डेथ हो चुकी थी। लेकिन डॉक्टरों ने उसके भाई का शव रख लिया और कहा कि इसका कोरोना टेस्ट लिया जाएगा। दो दिन इंतजार के बाद रिपोर्ट आई तो परिजन अस्पताल पहुंचे। इस दौरान डॉक्टरों ने निगेटिव रिपोर्ट के साथ शव को परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने ऐसी लापरवाही करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

जबकि इस संबंध में जिला सिविल सर्जन डॉक्टर विजय दहिया का कहना हैं कि एक ही नाम की दो रिपोर्ट आने के चलते यह चूक हुई है। इस मामले में जांच कमेटी बैठाई गई है, ताकि आगे से इस तरह का कोई लापरवाही ना हो। सिविल सर्जन ने बताया कि जिस व्यक्ति की डेथ हुई थी वह कुछ अन्य बीमारियों से भी ग्रस्त था। लेकिन नियम अनुसार हमने उसका सैंपल लिया और वह पॉजिटिव आया। उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों के सैंपल लिए जा रहे हैं। साथ ही उस इलाके को भी सील कर दिया गया है।

 

 

Add your comment

Your email address will not be published.