रूड़की के पनियाला गांव में लगा कूड़े का अंबार, नहीं दे रहा कोई ध्यान

ख़बरें अभी तक। भाजपा सरकार चाहे जितने लाख दावे करती हो समय समय पर कितने ही सफाई अभियान चला रही हो लेकिन सफाई अभियान का नारा देने वाली भाजपा सरकार की पोल खोल रही है ये बस्ती क्योंकि यहां बस्ती के बीच में ही कूड़े का अंबार लगा हुआ है जी हां हम बात कर रहे है रूड़की के पनियाला गांव की जिसकी ओर किसी शासन प्रशासन का कोई नुमाइंदा या ग्राम प्रधान से लेकर कोई भी जन प्रतिनिधि इस कूड़े की ओर ध्यान नहीं दे रहे है।

जिससे यहां रह रहे ग्रामीणों को बहुत दिक्कतों का सामना करके रहना पड़ रहा है। हर साल की तरह इस बार भी डेंगू बुखार शुरू हो गया है जिसको लेकर ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान से लेकर विधायक तक के सामने अपनी यह समस्या रखी है लेकिन सिवाय आश्वासन के कुछ नहीं मिला. कोई जन प्रतिनिधि इस कूड़े के ढेर को हटाने से तो रहे सफाई तक कराने में भी उनको दिक्कत हो रही है।

ग्रामीणों के अनुसार पिछले साल भी यहां डेंगू बुखार होने से 12 मौते हो गयी थी। लेकिन उससे भी किसी ने कोई सबक नहीं लिया बताया ये भी जा रहा है कि यह कूड़े के अंबार पिछले कई सालों से ऐसे ही पढ़ा हुआ है और गंदगी के अलावा यहां कुछ नहीं है जब इसकी शिकायत लेकर ग्रामीण किसी के पास जाते है तो सिर्फ उनको मिलता है आश्वासन। ग्रामीणों में डेंगू बुखार को देखते हुए इस कूड़े के ढेर से अब फिर से डर लगने लगा है लेकिन जन प्रतिनिधियों को इसकी कोई सूध नहीं है।

अब सवाल उठता है कि यहां आस पास में रहने वाले लोग अपनी पीड़ा किसको सुनाए उनकी सुनने वाला कोई है ही नहीं पीछले कई सालों से पड़ा ये कूड़ा लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहा है क्योंकि इसके आस पास जो पानी इकठ्ठा होता है वहां मच्छर पैदा होते है और अब तो डेंगू का कहर भी शुरू हो गया है जिससे यहां के ग्रामीणों में दशहत होनी शुरू हो गयी है, अब देखने वाली बात ये होगी कि हमारी इस मुहिम से शासन प्रशासन या जन प्रतिनिधि अपनी नींद से जाग कर इस ओर ध्यान देते है या नहीं या ऐसे ही लोगों को अपना जीवन जीना पड़ेगा ये तो आने वाला वक्त बतायेगा।

Add your comment

Your email address will not be published.