सीआरपीएफ न होती तो मेरा बचकर निकलना मुश्किल था, दंगो के पीछे टीएमसी समर्थकों का हाथ-अमित शाह

ख़बरें अभी तक । पश्चिम बंगाल में टीएमसी और भाजपा के बीच चल रहे टकराव को लेकर अमित शाह ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस की है. पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि मंगलवार को बंगाल में रोड शो के दौरान यदि सीआरपीएफ न होती तो उनकी हत्या हो सकती थी और मेरा वहां से बचकर आना मुश्किल हो जाता. शाह ने कहा कि रोड शो में दंगे के पीछे टीएमसी समर्थकों का हाथ है.

Image result for WEST BENGAL दंगा

दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अमित शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा के कई कार्यकर्ता मारे गए. बीते छह चरणों के दौरान पश्चिम बंगाल को छोड़कर बाकी देश के किसी भी हिस्‍से में हिंसा की घटनाएं नहीं हुई हैं। भाजपा यदि हिंसा करती तो देश के बाकी हिस्‍सों में भी हिंसा होनी चाहिए थी. लोकसभा चुनाव पर अमित शाह ने कहा कि इस बार बीजेपी 300 से अधिक सीटें जीतेगी.

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर शाह ने कहा कि रोड शो के दौरान टीएमसी के समर्थकों ने बीजेपी के कार्यकर्ताओं को उकसाया. भाजपा अध्‍यक्ष ने आरोप लगाया कि टीएमसी के गुंडों ने ही ईश्‍वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को तोड़ा। उन्होंने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है की बंगाल में उन पर एफआईआर दर्ज की गई है लेकिन दीदी की एफआईआर से वह डरने वाले नहीं है .

Add your comment

Your email address will not be published.