आज के दिन देश में एक राज्य के तौर पर उभरा था हिमाचल प्रदेश

ख़बरें अभी तक । प्रदेश में आज हिमाचल दिवस यानी स्थापना दिवस मनाया जा रहा है. जी हां अपनी संस्कृति व सुंदरता के लिए मशहूर हिमाचल प्रदेश को आज के दिन ही देश के एक राज्य होने का सौभाग्य प्राप्त हुआ था. बतातें चले कि आजादी के बाद 15 अप्रैल 1947 को 28 रियासतों को जोड़कर हिमाचल प्रदेश को नया राज्य बनाया गया था. नए राज्य का दर्जा मिलने के बाद प्रदेश के अंदर 4 जिलो की भी स्थापना भी की गई थी. इसी दौरान 1951 में हिमाचल को सी कैटेगरी राज्य का दर्जा दिया गया.

हम आपकों बता दें कि साल 1956 में सी कैटेगरी स्टेट का दर्जा समाप्त होते ही हिमाचल को केंद्र शासित राज्य के रूप में पहचान मिली. एक नवंबर 1966 को पंजाब पुनर्गठन के समय पंजाब के कुल्लू, कांगड़ा, हमीरपुर, नालागढ़, कसौली, लाहौल-स्पीति, डलहौजी, ऊना और शिमला के क्षेत्र हिमाचल में शामिल कर हिमाचल अस्तित्व में आया. आज हिमाचल प्रदेश में कुल 12 जिले है.

हिमाचल प्रदेश के लोग बहुभाषी है और बहुत सी भाषाओं में बातचीत करते है। प्रदेश की अधिकारिक राज्य भाषा हिंदी है। राज्य में पंजाबी, डोंगरी, कांगड़ी, पहाड़ी और किन्नौरी भाषा का भी प्रयोग किया जाता है। राज्य के आर्थिक विकास में पर्यटन क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

हिमालय के परिदृश्य के साथ वाला यह पहाड़ी राज्य दुनियाभर के लाखो पर्यटकों को आकर्षित करता है। शिमला, मनाली, डलहौजी, चंबा, धर्मशाला और कुल्लू जैसे हिल स्टेशन घरेलु और विदेशी पर्यटकों के बीच काफी प्रसिद्ध है। हिन्दू मान्यताओं के आधार पर इसे देवताओ की भूमि भी कहा जाता है, माना जाता है की भगवान शिव हिमालय को ही अपना घर मानते थे और राज्य का ज्यादातर भाग हिमालय से ही घिरा हुआ है।

Add your comment

Your email address will not be published.