अंतरिम बजट के बाद मोदी सरकार करेगी एक और बड़ा ऐलान

ख़बरें अभी तक। हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी ने बजट पेश कर के आम लोगों के दिल में जगह बनाई थी। वहीं अब फिर एक बार पीएम मोदी जनता को लुभाने के लिए एक और बड़ा ऐलान करने वाले है। यह ऐलान पीएम मोदी 21 फरवरी को करेंगे। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार वोर्टस को हर तरह से लुभाने के प्रयास में लगी हुई है। इसी के तहत सरकार ने कुछ दिन पहले अंतरिम बजट में किसानों के खाते में 6 हजार रुपये की निश्चित रकम पहुंचाने का ऐलान किया. वहीं 5 लाख रुपये तक की कमाई करने वाले मध्‍यम वर्ग के लोगों को टैक्‍स छूट में राहत देकर करोड़ों नौकरीपेशा लोगों को राहत दी गई.

वहीं 21 फरवरी को मोदी सरकार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी EPFO वित्त वर्ष 2018-19 के लिए प्रॉविडेंट फंड (PF) पर ब्याज दर में इजाफा कर सकती है. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक 21 फरवरी को होने वाली सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी सीबीटी की बैठक में पीएफ पर ब्याज दर को बरकरार रखने या बढ़ाने का प्रस्‍ताव आ सकता है. वहीं सूत्रों के अनुसार, इस अटकल को पूरी तरह खारिज नहीं किया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष के लिये ईपीएफ जमा कर ब्याज दर 8.55 फीसदी से अधिक हो सकती है.

बता दें कि 21 फरवरी को लेबर मिनिस्‍टर की अगुवाई में सीबीटी की बैठक होनी है. यह बॉडी ही पीएफ पर ब्याज दर की सिफारिश करती है. आम तौर पर सीबीटी की सिफारिश को ही अंतिम रूप दिया जाता है. बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होगी. अगर सीबीटी की सिफारिश पर मुहर लगती है तो लगभग 6 करोड़ पीएफ अकाउंट होल्डर्स को फायदा मिलेगा.

सीबीटी की बैठक में ईपीएफओ द्वारा शेयर बाजार में किए गए निवेश की समीक्षा भी की जा सकती है. इसके अलावा नए फंड मैनेजरों की नियुक्ति पर भी विचार विमर्श होगा. बता दें कि वर्तमान में स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया फंड मैनेज करता है लेकिन मार्च के बाद बैंक प्रॉविडेंट फंड पीएफ के पैसे का प्रबंधन नहीं कर पाएगा.

Add your comment

Your email address will not be published.