ये मुद्दा आने वाले दिनों में कांग्रेस की गुटबाजी और बढा सकता है, कांग्रेस आलाकमान ने की रिपोर्ट तलब

ख़बरें अभी तक

दिन प्रतिदिन बढ़ती महंगाई ने देश की जनता की कमर तोड़ रखी है।जिसको लेकर कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन जारी है।बीते दिनों इस विरोध प्रदर्शन में शामिल ना होने वाले विधायकों से कांग्रेस आलाकमान ने रिपोर्ट तलब की है।हरियाणा कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल ने सभी विधायकों को पत्र लिखा है। बता दें कि महंगाई के मुद्दे पर 7 जुलाई और 10 जुलाई को हुए विरोध प्रदर्शन की रिपोर्ट मांगी गई है। तो वहीं इन प्रदर्शनों में हुड्डा गुट के ज्यादातर विधायकों ने हिस्सा नहीं लिया था।

Bhupinder Singh Hooda: Industrial Plot allotment scandal: Former Haryana CM  Hooda charge-sheeted by ED - The Economic Times

हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल, प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा, कांग्रेस नेता किरण चौधरी, सैलजा गुट के नेता ही इन प्रदर्शनों में दिखाई दिए थे। हुड्डा गुट के ज्यादातर विधायकों और नेताओं ने इन प्रदर्शनों से दूरी बनाई थी।जिसके बाद कांग्रेस प्रभारी के रिपोर्ट तलब करने से हुड्डा गुट के विधायकों की बेचैनी बढ़ गई। स्थिति को देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कांग्रेस की गुटबाजी आने वाले दिनों में और ज्यादा बढ़ सकती हैं।

Kumari Selja: Khattar Govt Cheated People, Unemployment At Highest - कुमारी  शैलजा बोलीं, खट्टर सरकार ने जनता को धोखा दिया, बेरोजगारी सर्वोच्च स्तर पर |  Patrika News

 बता दें कि पार्टी के प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल ने कांग्रेस विधायकों को लिखे पत्र की प्रतिलिपि राष्ट्रीय संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रदेशाध्यक्ष के साथ साथ नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा को भी भेजी है। खुद प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल और प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा भी इन प्रदर्शनों में हिस्सा लेने झज्जर व चरखी दादरी पहुंचे थे।

Vivek Bansal in charge of Haryana Congress became star campaigner in the by  election

वहीं इस मुद्दे पर प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल ने कहा कि 7 और 10 जुलाई को महंगाई के विरोध में ब्लाक स्तर पर प्रदर्शन की काल अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की तरफ से दी गई थी। इन प्रदर्शनों की बाबत एक रिपोर्ट पार्टी संगठन को दी जानी है। इसलिए जिन विधायकों ने इन प्रदर्शनों में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया है, उनसे ब्योरा मांगा गया है।इसे राज्य स्तर पर किसी राजनीति से नहीं जोड़ा जाए। यह संगठनात्मक कार्य के अंतर्गत लिया गया निर्णय है।

Add your comment

Your email address will not be published.