होमवर्क से परेशान नन्हीं बच्ची, पीएम मोदी से की ऐसी शिकायत कि एलजी को लेना पड़ा संज्ञान !

ख़बरें अभी तक || कोरोना महामारी  का सबसे ज्यादा असर कहीं देखा गया है तो वो बच्चों पर पड़ा है।  कोविड-19 के कारण देशभर में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। ऐसे में स्‍कूल और कोचिंग संस्‍थान ऑनलाइन क्लास के जरिये पढ़ाई को जारी रख रहे हैं। लेकिन कुछ बच्‍चों की शिकायत है कि उन्‍हें ऑनलाइन क्‍लासेज में टीचर बहुत ज्यादा काम दे देते हैं.। ऐसी ही एक बच्‍ची जम्‍मू-कश्‍मीर की है। जिसकी उम्र महज 6 साल है। मासूम ने अपनी इस समस्‍या को सीधे प्रधानमंत्री मोदी तक पहुंचाने के लिए उनके नाम एक वीडियो संदेश जारी किया।

6 Year Old Child Complaint To Pm Modi Regarding Online Classes Watch Video

बच्ची ने इस वीडियो में बेहद प्यारे अंदाज में पीएम मोदी से भावुक अपील की है। बच्ची का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल  हो रहा है। वहीं इस वीडियो को जम्‍मू-कश्‍मीर के उप राज्‍यपाल मनोज सिन्हा ने भी शेयर किया है।

नन्हीं बच्ची ने पीएम मोदी से की ये अपील

वीडियो में 6 साल की बच्‍ची पीएम मोदी को संदेश देते हुए कहती है, ‘अस्सलामु अलैकुम मोदी साहब, मैं एक लड़की बोल रही हूं। मैं जूम क्लास की बातें बोल सकती हूं। जो 6 साल के बच्चे होते हैं उनको ज्यादा काम क्यों रखते हैं। पहले मेरी अंग्रेजी, गणित, उर्दू, ईवीएस और उसके बाद कंप्यूटर की क्लास होती है। मेरी 10 बजे से लेकर 2 बजे तक क्लास चलती है। इतना काम तो बड़े बच्चों के पास होता है।’

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरस होने के बाद नन्हीं बच्ची की फरियाद सुनी गई है। केंद्रशासित प्रदेश के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने बच्ची की शिकायत पर संज्ञान लिया। एलजी ने अब राज्य में ऑनलाइन क्लास के लिए घंटे तय कर दिए हैं।

बच्ची की पहचान माइरू इरफान के रूप में हुई है

वीडियो में नजर आई नन्हीं बच्ची की पहचान माइरू इरफान के रूप में हुई है। माइरू श्रीनगर के बाटमालू इलाके में रहती है। वीडियो में उसने बताया है कि वह रोजाना तीन घंटे ऑनलाइन पढ़ाई करती है। अपने वीडियो संदेश में उसने कहा, ‘पढ़ाई का इतना ज्यादा बोझ बड़े बच्चों के लिए होता है। बच्चों के लिए इतना सारा होमवर्क क्यों मोदी साहब। इसका क्या किया जा सकता है?’ वीडियो के वायरल होने के बाद उप-राज्यपाल ने शिक्षा विभाग को ऑनलाइन क्लास के घंटों की समीक्षा करने के लिए 48 घंटे का समय दिया।

शिकायती वीडियो के बाद हरकत में आए एलजी

ऑनलाइन क्लास के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार 24 घंटे के भीतर एक प्रारूप लेकर आ गई। सिन्हा ने कहा कि सभी स्कूलों बच्चों के ऑनलाइन क्लासेज के लिए शिक्षा विभाग ने पढ़ाई के घंटे तय किए हैं। शिक्षा विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन में प्री-प्राइमरी के बच्चों के लिए प्रतिदिन 30 मिनट की ऑनलाइन क्लास तय की गई है। जबकि कक्षा एक से आठ तक के लिए बच्चों के लिए 30-45 मिनट की दो से ज्यादा कक्षाएं नहीं होंगी। स्कूल 9 से 12वीं क्लास के लिए 30 से 45 मिनट के चार सेशन चला सकते हैं।

Add your comment

Your email address will not be published.