खबर का असर: हिमाचल में कंडक्टर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, CM ने दिए जांच के आदेश

ख़बरें अभी तक || हिमाचल पथ परिवहन निगम कंडक्टर भर्ती की लिखित परीक्षा एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गई है। परीक्षा शुरू होने के कुछ ही समय बाद सोशल मीडिया पर इसका पेपर वायरल हो गया। पड़ताल की गई तो जानकारी मिली कि पेपर सोलन और शिमला में बनाए गए परीक्षा केंद्रों से आउट किया गया था।  यह परीक्षा हिमाचल स्टाफ सिलेकशन बोर्ड हमीरपुर के जरिए करवाई गई थी।

कंडक्टर भर्ती के लिए परीक्षा की सीरिज बी का पेज नंबर 19 और दूसरा पेज लीक हुए हैं।  ये पेपर शिमला के एक निजी संस्थान से आउट होने की खबर मिली।  शिमला पुलिस की तरफ से भी मामले में जांच की जा रही है।  हिमाचल प्रदेश में 568 पदों के लिए एचआरटीसी मे कंडक्टर बनने के लिए परीक्षा का आयोजन किया गया था, जिसमें तकरीबन 60,000 अभ्यर्थियों ने फॉर्म भरा था, लेकिन पेपर सुबह 12:00 बजे खत्म होना था और तकरीबन 10:30 बजे पेपर की फोटो को सोशल मीडिया पर पर वायरल कर दिया गया।

वहीं कंडक्टर भर्ती की परीक्षा लीक मामले में ‘खबरें अभी तक’ ने खबर को प्रमुखता से दिखाया। अपने जिम्मेदारी को समझते हुए हमने स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड के चेयरमैन से भी इस मामले में कई सवालों के जवाब लिए। जिसके बाद कंडक्टर भर्ती परीक्षा में लापरवाही को लेकर ‘खबरें अभी तक’ की खबर का असर भी हुआ।  मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मामले में कड़ा संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘’मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख़्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि लिखित परीक्षाएं पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से आयोजित की जाएं ताकि भविष्य में इस तरह की कोई घटना घटित न हो’’ बहरहाल, बड़ा सवाल ये है कि इतना सख्त प्रोटोकॉल होने के बाद भी सोशल मीडिया पर पेपर लीक कैसे हो गया ? मामले में किसने लापरवाही की ? ऐसे कई सवाल हैं जिनके जवाब जांच पूरी होने के बाद ही मिलेंगे ।